Latest News

असम में जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या 66 हुई

Yamini Saini

पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है. इन आरोपियों की पहचान इंदुकलपा बोरदोलोई और देब बोरा के रूप में हुई है, जो चाय बागान के पास ही देसी शराब की भट्टी चलाते थे.

 

असम के गोलाघाट जिले में जहरीली शराब पीने से चाय बागान के 66 मजदूरों की मौत हो गई. जिले के एक अधिकारी ने बताया कि कई लोगों का अभी विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है. ऐसे में मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है.

स्थानीय लोगों के मुताबिक, सालमारा चाय बागान के मजूदरों ने गुरुवार शाम वेतन मिलने के बाद एक दुकान से शराब खरीदी थी, जिसे पीते ही चार महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गई. अगले 12 घंटे में आठ अन्य लोगों की मौत की खबर आई, जो अब बढ़कर 66 पर पहुंच गई है.

पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है. इन आरोपियों की पहचान इंदुकलपा बोरदोलोई और देब बोरा के रूप में हुई है, जो चाय बागान के पास ही देसी शराब की भट्टी चलाते थे. वहीं पुलिस इस मामले में शामिल अन्य लोगों की तलाश में जुटी है. डीएसपी पार्थ प्रतीम सैकिया ने बताया, 'हमने दो लोगों को गिरफ्तार किया है और अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है.'

स्थानीय लोगों के मुताबिक, इलाके में 10 से 20 रुपये में  कच्ची शराब मिला करती है. उन्होंने बताया कि शराब की दुकान चलाने वाले संजू ओरांग और उसकी मां द्रौपदी उरांग की भी जहरीली शराब पीने से मौत हो गई.

उधर असम के आबकारी मंत्री परीमल शुक्ल वैद्य ने विभाग के अधिकारियों की एक टीम को घटना की जांच करने का निर्देश दिया है. घटना को लेकर जिले के दो आबकारी अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है.

मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने इन मौतों पर चिंता व्यक्त करते हुए अपर असम मंडल आयुक्त जूली सोनोवाल को मामले की जांच करने के निर्देश दिए और एक महीने के भीतर सरकार को इसकी रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा है. सोनोवाल ने राज्य के ऊर्जा मंत्री तपन कुमार गोगोई, सांसद कामाख्या प्रसाद तासा और विधायक मृणाल सैकिया को घटनास्थल का दौरा करने को कहा है.

वहीं, कांग्रेस विधायक रूपज्योति कुर्मी ने आबकारी मंत्री के इस्तीफे की मांग की है और मुख्यमंत्री से मृतकों के परिजनों को उचित मुआवजा देने का अनुरोध किया है.

Related News you may like

Article

Side Ad