Latest News

ट्रेनों की सुरक्षा के लिए बजट में जीपीएस इनेबल ट्रेन ट्रैकिंग सिस्टम टेक्नोलॉजी की हो सकती है घोषणा

Yamini Saini

ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि सरकार रेल यात्रियों को ध्यान में रखते हुए बड़ी घोषणाएं कर सकती है. ये घोषणाएं यात्रियों की सुरक्षा, ट्रेनों की स्पीड, स्टेशन पर यात्री सुविधाओं आदि से जुड़ी होंगी.

 

लोकसभा चुनावों से पहले पेश हो रहे बजट के कुछ खास होने की उम्मीद जताई जा रही है. ये उम्मीद रेलवे को लेकर भी है. ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि सरकार रेल यात्रियों को ध्यान में रखते हुए बड़ी घोषणाएं कर सकती है. ये घोषणाएं यात्रियों की सुरक्षा, ट्रेनों की स्पीड, स्टेशन पर यात्री सुविधाओं आदि से जुड़ी होंगी.

हादसे कम हों इसलिए आ सकती है ये टेक्नोलॉजी

रेल हादसों को कम करने के लिए सरकार ट्रेन प्रोटेक्शन वार्निंग सिस्टम और जीपीएस इनेबल ट्रेन ट्रैकिंग सिस्टम की घोषणा कर सकती है. वहीं ट्रैक के मेंटिनेंस पर जोर देते हुए ट्रैक मैन की जगह मशीनों से ट्रैक मेंटिनेंस कराए जाने की घोषणा इस बजट में होने की उम्मीद जताई रही है. लोको मेंटीनेंस के लिए भी आधुनिक मशीनों के इस्तेमाल का जिक्र इस बजट में हो सकता है.

बढ़ेगा ट्रेनों की रफ्तार का मीटर

हाल ही में रेल मंत्रालय ने ट्रेन 18 का ट्रायल कर ट्रेनों की रफ्तार बढ़ने के अपने मंसूबे से वाकिफ करा दिया था. ट्रेन 18 के बाद अब दूसरी ट्रेनों की स्पीड बढ़ाए जाने की चर्चा चल रही है. इस बजट में सेमी हाई स्पीड और एक्सप्रेस ट्रेनों की स्पीड़ बढ़ाए जाने की घोषणा हो सकती है. जानकारों की मानें तो हाल ही में कई और रूट पर इलेक्ट्रीफिकेशन का काम पूरा किया गया है. जिसके चलते रेल विभाग स्पीड बढ़ाने का निर्णय ले सकता है.

स्टेशन पर यात्रियों को मिल सकती हैं ये दो बड़ी सुविधाएं

हालांकि सरकार पिछले बजट में यात्रियों की सुविधाओं के लिए स्टेशन पर स्व-चलित सीढ़ियों (एस्केलेटर) और लिफ्ट लगाए जाने की घोषणा कर चुकी है. लेकिन इस बजट में एक बार फिर स्टेशन पर एक प्लेटफार्म से दूसरे प्लेटफार्म तक होने वाली भागदौड़ में सुविधा दे सकती है. इसके साथ ही यात्रियों को वाई-फाई की सुविधा भी मिल सकती है.

Related News you may like

Article

Side Ad