Latest News

हिट हुआ वन विभाग का नेचर टूरिज्म कॉन्सेप्ट, बायोलॉजिकल पार्क में आए 15 लाख पर्यटक

Yamini Saini

राजस्थान में नेचर टूरिज्म को बढ़ावा देने का वन विभाग का फैसला हिट होता नजर आ रहा है. प्रदेश में वन विभाग नेचर टूरिज्म के जरिए काफी राजस्व अर्जित कर रहा है. ढाई साल पहले राजधानी में शुरू किए गए नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क से वन विभाग को न सिर्फ करोड़ों की कमाई हुई है बल्कि प्राकृतिक माहौल में वन्यजीव दिखाकर लोगों को वन और वन्यजीवों के प्रति जागरूक करने में भी मदद मिली है.

राजस्थान में नेचर टूरिज्म को बढ़ावा देने का वन विभाग का फैसला हिट होता नजर आ रहा है. प्रदेश में वन विभाग नेचर टूरिज्म के जरिए काफी राजस्व अर्जित कर रहा है. ढाई साल पहले राजधानी में शुरू किए गए नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क से वन विभाग को न सिर्फ करोड़ों की कमाई हुई है बल्कि प्राकृतिक माहौल में वन्यजीव दिखाकर लोगों को वन और वन्यजीवों के प्रति जागरूक करने में भी मदद मिली है. वन विभाग की ओर से पिछले तीन साल से लगातार ये कोशिशें जारी हैं कि चिड़ियाघर बंद किए जाएं और नए कॉन्सेप्ट बायोलॉजिकल पार्क को बढ़ावा दिया जाए. ये कॉन्सेप्ट कारगर साबित हो रहा है.

लोग जू की कैद में वन्यजीवों को देखने के बजाय बायोलॉजिकल पार्क में खुले वातावरण में उन्हें देखना ज्यादा पसंद कर रहे हैं. इससे वन विभाग की आमदनी भी बढ़ रही है. यही वजह है कि वन विभाग की ओर से चेयर टूरिज्म की सबसे कमाऊ जगह में नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क महज ढाई साल में अपनी जगह बना चुका है.

वन विभाग की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक पिछले एक साल में वन नाहरगढ़ योलॉजिकल पार्क में करीब सात लाख लोगों ने विजिट किया है. शरुआत की बात की जाए तो 2016 से 17 तक छह महीने में साढ़े तीन लाख लोगों ने पार्क को देखा. इस साल पर्यटकों के ग्राफ में पिछले साल से ज्यादा इजाफा दर्ज किया गया है. इस साल करीब सात लाख लोग नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क पहुंचे हैं. पिछले ढाई साल में ही वन विभाग इस पार्क से करीब छह करोड़ की कमाई करने में कामयाब रहा है. इस दौरान 15 लाख लोगों को दुर्लभ वन्यजीवों के दर्शन कराए गए.

मिली जानकारी के अनुसार नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में रखे गए वन्यजीवों का तनाव कम हुआ है. वन्यजीवों में तनाव कम है तो इससे प्रजनन अच्छा है. अलग-अलग वन्यजीवों के बच्चे नजर आने लगे हैं. इस वजह से नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क पर्यटकों को काफी आकर्षित करने लगा है. वन विभाग का यहां आगामी दिनों में टाइगर सफारी और एग्जोटिक पार्क खालने की भी योजना है ताकि यहां और ज्यादा पर्यटक खिंचे चले आएं.

Related News you may like

Article

Side Ad