Latest News

सायकोलॉजिकल थ्रिलर और सुपरहीरो मूवी का कॉम्बिनेशन है फिल्म

Yamini Saini
स्टार रेटिंग   3/5
स्टारकास्ट   जेम्स मैकवॉय, ब्रूस विल्स, सैम्युअल एल जैक्सन, सारा पॉलसन, एन्या टेलर   जॉय, स्पेंसर ट्रीट क्लार्क
डायरेक्टर  मनोज नाइट श्यामलन
प्रोड्यूसर  मनोज नाइट श्यामलन, जेसन ब्लम, मार्क बीनस्टॉक, अश्विन राजन
म्यूजिक वेस्ट डायलन थॉर्डसन
जॉनर सुपरहीरो थ्रिलर
रनिंग टाइम 129 मिनट

हॉलीवुड डेस्क. भारतीय मूल के हॉलीवुड डायरेक्टर मनोज नाइट श्यामलन 2000 में आई फिल्म 'अनब्रेकेबल' और 2016 की फिल्म 'स्प्लिट' का सीक्वल लेकर आए हैं। फिल्म में दोनो पिछली फिल्मों के खास किरदार हैं, जो अपनी कहानी में आगे बढ़ते हैं। श्यामलन थ्रिलर फिल्मों में अपने खास ट्विस्ट्स के लिए जाने जाते हैं। सिक्सथ सेन्स में पहली बार दर्शकों ने उनके इस जॉनर को एंजॉय किया था। इस फिल्म में भी श्यामलन ने दर्शकों को चौंकाया है। लेकिन 'ग्लास' उनकी अब तक की सबसे अच्छी फिल्म मानी जाने वाली 'अनब्रेकेबल' से आगे नहीं निकल पाई है।

  • कहानी

     

    • फिल्म के तीन मुख्य किरदार है डेविड डन(ब्रूस विल्स), एलिजा प्राइस/मिस्टर ग्लास(सैम्युअल एल जैक्सन) और केविन वेंडेल(जैम्स मैकवॉय)। डेविड और एलिजा के अनुसार उनके पास सुपरनेचुरल शक्तियां है और वे दुनिया को बचाने का काम करते हैं। केविन के किरदार को डिसोसिएटिव आइडेंटिटी डिसऑर्डर है जिसके चलते उसके अंदर 24 अलग-अलग लोगों के व्यक्तित्व मौजूद है। इनमें 8 साल के बच्चे से लेकर 50 साल तक की महिला तक के व्यक्तित्व शामिल हैं। लेकिन इनमें से सबसे खतरनाक है द बीस्ट, जो नरभक्षी है।
    • इस फिल्म की कहानी 'स्प्लिट' के अंत के तीन हफ्ते बाद शुरू होती है। डेविड डन अपने बेटे जोसेफ के साथ मिलकर अपनी सुपरनेचुरल शक्तियों का इस्तेमाल अपराधियों से दुनिया को बचाने के लिए कर रहा है। इस दौरान उसे पता चलता है कि केविन ने कुछ चीयरलीडर्स को बंदी बना रखा है। उन्हें बचाने के लिए पहुंचे डेविड का सामना केविन के अंदर मौजूद 24वें व्यक्तित्व द बीस्ट से होता है। दोनों के बीच लड़ाई होती है, और लड़ते हुए यह पब्लिक के बीच पहुंच जाते हैं। फिलाडेल्फिया पुलिस दोनों को पकड़ लेती है और उन्हें एक पागलखाने में भेज दिया जाता है। इस पागलखाने में दोनों की मुलाकात मिस्टर ग्लास से होती है, जो पिछली कहानी में डेविड के लिए विलेन था।
    • पागलखाने में डॉक्टर एली स्टैपल(सारा पॉलसन) इन तीनों को बताती है कि वे एक मानसिक समस्या से गुजर रहे हैं, जिसके कारण उन्हें लगता है कि वे सुपरहीरोज हैं। इस दौरान मिस्टर ग्लास अपने सीक्रेट प्लान पर काम कर रहा हैं जहां वो 'द बीस्ट' को लोगों के सामने लाना चाहता है। उसका प्लान है कि द बीस्ट और डेविड के बीच लड़ाई होने से दुनिया को सुपरहीरोज के बारे में पता चलेगा और बाकी सुपरहीरोज को भी छुपकर नहीं रहना होगा। मिस्टर ग्लास का प्लान कामयाब होता है? या फिर डॉक्टर एली तीनों को बीमार होने का यकीन दिला देती है? आगे की कहानी जानने के लिए आपको थिएटर का रुख करना होगा। 
  • डायरेक्शन और एक्टिंग

     फिल्म अनब्रेकेबल के 18 साल बाद आई है। समय के हिसाब से कॉमिक्स और सुपरहीरोज से जुड़ा यह कॉन्सेप्ट थोड़ी ज्यादा देरी से आया है। इसलिए प्रासंगिक नहीं लगता। सिक्सथ सेन्स और अनब्रेकेबल जैसी फिल्में बनाने के बाद श्यामलन को थ्रिलर फिल्मों का स्पेशलिस्ट माना जाने लगा है। इस फिल्म में भी हर एक पल के साथ दर्शक अपनी सीट से बंधा रहता है। फिल्म की कहानी काफी प्रेडिक्टबल है, आखिर में आने वाला ट्विस्ट दर्शक को चौंकाता तो है लेकिन अगर आप बेहद ध्यान से फिल्म देख रहे हैं तो आप ज्यादा हैरान नहीं होंगे।

     ब्रूस विल्स, सैम्युअल और जेम्स ने अपने आपको एक बार फिर साबित किया है। खासतौर पर 24 अलग-अलग व्यक्तित्वों की प्रजेंटेशन में जेम्स का काम बेहद शानदार है। अलग-अलग व्यक्तित्वों को निभाते वक्त जेम्स बेहद सहज अभिनय करते हैं। साला पॉलसन ने भी अपने हिस्से का काम ईमानदारी से किया है। स्पेंसर और एन्या के पास करने को ज्यादा कुछ नहीं था, लेकिन कम स्क्रीन प्रजेंस में भी वे आपको याद रहते हैं।

    देखें या नहीं

    फिल्म का कंटेट कुछ इस तरह का है कि कुछ लोगों को यह फिल्म बेहद पसंद आएगी, वहीं डार्क फिल्में पसंद ना करने वाले दर्शकों के लिए यह फिल्म अच्छी नहीं है। ग्लास को देखने के लिए इस ट्राइलॉजी की पिछली दोनों फिल्में देखी हो ऐसा जरूरी नहीं है लेकिन अगर पिछली फिल्में देखकर जाएंगे तो दर्शक के तौर पर आपको थोड़ा ज्यादा मिलेगा।

    अगर पहले से श्यामलन का काम देख रखा है तो यह फिल्म शायद थोड़ी औसत लगे, क्योंकि आप उनसे जो उम्मीदें लेकर जाएंगे वो पूरी नहीं होंगी। लेकिन एक नए दर्शक के लिए फिल्म बहुत उम्दा है। 

Related News you may like

Article

Side Ad