Latest News

SBI ने विदेश में बेचा साल का सबसे बड़ा बॉन्ड

Yamini Saini
SBI की बिलियन डॉलर ड्रीम पूरी हुई। बैंक ने विदेशी निवेशकों से 1.25 अरब डॉलर जुटाए। पिछले एक साल में यह किसी भारतीय कंपनी का सबसे बड़ा डॉलर बॉन्ड इश्यू है। एग्जिम बैंक ने पिछले साल जनवरी में 3.89% की यील्ड पर एक अरब डॉलर के बॉन्ड बेचे थे।

मुंबई 
देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने विदेशी बाजार में एक अरब डॉलर यानी 7,124 करोड़ रुपये का बॉन्ड लॉन्च किया था, लेकिन वह इससे 1.25 अरब डॉलर यानी 8,800 करोड़ रुपये जुटाने में सफल रहा। पिछले एक साल में यह किसी भारतीय कंपनी का सबसे बड़ा डॉलर बॉन्ड इश्यू था। इसमें एसबीआई ने तीन और पांच साल में भुनाए जाने वाले बॉन्ड बेचे। यह जानकारी बैंक के बॉन्ड इश्यू से वाकिफ कम से कम तीन सूत्रों ने दी। 

बैंक ने रेग्युलेटरी फाइलिंग में बताया कि पांच साल के 85 करोड़ डॉलर के बॉन्ड उसने 4.37 पर्सेंट और तीन साल के 40 करोड़ डॉलर के बॉन्ड उसने 4 पर्सेंट ब्याज पर बेचे हैं। इनमें ब्याज का भुगतान छमाही किया जाएगा। ये बॉन्ड बैंक की लंदन ब्रांच के जरिये इश्यू किए जाएंगे और इनकी लिस्टिंग सिंगापुर स्टॉक एक्सचेंज और इंडिया इंटरनेशनल एक्सचेंज, गिफ्टी सिटी में कराई जाएगी। 

एक सूत्र ने बताया, ‘बॉन्ड इश्यू भारतीय समय के अनुसार बुधवार की सुबह में लॉन्च किया गया ताकि जापान और अमेरिका सहित दुनिया भर के निवेशकों को आकर्षित किया जा सके। बैंक को उम्मीद थी कि निवेशक इस पर टूट पड़ेंगे क्योंकि एसबीआई की रेटिंग देश की रेटिंग के बराबर मानी जाती है।’ 

इससे पहले एग्जिम बैंक ने पिछले साल जनवरी में 3.89 पर्सेंट की यील्ड पर 10 साल के बॉन्ड बेचकर एक अरब डॉलर जुटाए थे। उसके बाद यह सबसे बड़ा इश्यू है। पिछले साल भारतीय कंपनियों ने डॉलर बॉन्ड से कम पैसे जुटाए क्योंकि अमेरिका में ब्याज दरों में बढ़ोतरी हो रही थी और रुपये में भारी उतार-चढ़ाव बना हुआ था। ऐसे में एसबीआई का यह डॉलर बॉन्ड दूसरी कंपनियों के लिए नजीर बन सकता है। देश के सबसे बड़े बैंक ने बॉन्ड बेचने की जिम्मेदारी बार्कलेज, एमयूएफजी और एचएसबीसी सहित 8 विदेशी बैंकों को सौंपी थी। एसबीआई की सब्सिडियरी एसबीआई कैपिटल ने भी इसमें उसकी मदद की। 

मर्चेंट बैंकरों ने शुरू में कहा था कि तीन साल के लिए एसबीआई को अमेरिका में इसी अवधि के गवर्नमेंट बॉन्ड से 1.9 पर्सेंट अधिक ब्याज और पांच साल के लिए इसी अवधि के अमेरिकी गवर्नमेंट बॉन्ड पर मिल रही ब्याज से 2.1 पर्सेंट अधिक यील्ड देनी होगी। हालांकि, बुधवार शाम को तीन साल के बॉन्ड के लिए इसे 1.6 पर्सेंट और पांच साल के लिए 1.85 पर्सेंट कर दिया गया। तीन साल के अमेरिकी ट्रेजरी पर बुधवार देर रात यील्ड 2.53 पर्सेंट और पांच साल के लिए 2.55 पर्सेंट थी। एसबीआई का बॉन्ड इश्यू बुधवार आधी रात बंद हो गया। 

Related News you may like

Article

Side Ad